Acting Tips In Hindi

Acting Tips In Hindi | एक्टिंग क्या है एक्टिंग कैसे सीखे

Acting Tips In Hindi

एक्टिंग एक कला है और इसको भी सीखना परता है | इस पोस्ट के अंदर एक्टिंग से जुड़े कुछ टिप्स
जानेंगे की एक्टिंग कैसे करते हैं और एक्टिंग कहाँ से सिख सकते हैं | अगर आप भी एक्टिंग के
क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहते हैं तो इस पोस्ट को अच्छे से पूरा पढ़ें और दिए गए जानकारी
का इस्तेमाल कर के एक्टिंग और फिल्म निर्माण के क्षेत्र में अपना करियर बनाये |

एक्टिंग क्या है | Acting kya hai (Acting Tips In Hindi

एक्टिंग एक कला है जिसके माध्यम से कलाकार किसी एक करैक्टर के जिंदगी को
नकल कर के दर्शक तक उस करैक्टर की कहानी पहुंचाता है एक्टिंग कहलाता है | जो एक्टिंग करता है
उसे एक्टर बोलते हैं |
एक्टिंग का हिंदी मतलब अभिनय होता है और एक्टर को अभिनेता बोलते हैं |

मान लें, कोई कहनी है जो किसी देशभक्त के बारे में लिखी हुई है अगर उसके ऊपर कोई फिल्म
बनाना है तो उस देशभक्त करैक्टर का रोल करना एक्टिंग कहलाता है और जो उस करैक्टर का
किरदार निभाता है उसे एक्टर बोलते हैं |

एक्टिंग कैसे करते है | Acting kaise karte hain

एक्टिंग करने का मतलब सिर्फ स्क्रिप्ट में लिखे डायलॉग बोलना नहीं होता है ,
जब किसी करैक्टर का एक्टिंग किया जाता है तो उस करैक्टर के तरह दिखना
उसी करैक्टर के तरह बॉडी-लैंग्वेज और एक्सप्रेशन इत्यादि चीजों पे ध्यान देना
होता है |

अगर आप इसी व्यक्ति के ऊपर लिखी कहानी के किरदार की एक्टिंग करते हैं तो उस
व्यक्ति के व्यक्तित्व को अपने अंदर पूरी तरह से ढालना एक अच्छे एक्टर की पहचान
होती है |

फिल्म में एक्टिंग करने से पहले किसी भी एक्टर को उस किरदार के बारे में पूरी जानकारी दी
जाती है जिसका वो एक्टिंग करता है | फिर उस एक्टर को फिल्म स्क्रिप्ट दिया जाता है जिसके
मदद से फिल्म शूटिंग के समय डाइलॉग बोला जाता है |

फिल्म निर्माण में फिल्म डायरेक्टर होता है जो फिल्म का निर्देशन करता है | किस सीन में
किस तरह से एक्टिंग करनी है और किस हाव-भाव से सीन को शूट करना है ये फिल्म डायरेक्टर
एक्टर को गाइड करता है |

किसी फिल्म में एक्टर सबसे इम्पोर्टेन्ट होता है बिना अच्छे एक्टर के एक अच्छी फिल्म नहीं बनाई
जा सकती है |

एक्टर कैसे बने (Acting tips in hindi )

एक्टर बनने के लिए सबसे पहले एक्टिंग सीखना जरुरी है | एक्टिंग भी अन्य दूसरे प्रोफेशन के तरह
सिख के किया जा सकता है | बिन सिखे आप एक्टिंग नहीं कर सकते हैं |

जैसे डॉक्टर बनने के लिए मेडिकल कोर्स करना परता है ,इंजीनियर बनने के लिए इंजीनियरिंग करना
होता है वैसे ही एक्टर बनने के लिए एक्टिंग सीखना परता है |
एक्टिंग सिखने के लिए जरूरी नहीं है की आप ये एक्टिंग स्कूल से ही सीखे इसके लिए कहीं से भी
आप एक्टिंग सिख सकते हैं | थिएटर ग्रुप ज्वाइन कर सकते हैं या फिर ऑनलाइन टुटोरिअल देख कर
प्रैक्टिस कर सकते और फिर एक्टिंग सिख सकते हैं |

वैसे इंडिया में काफी सारे फिल्म स्कूल है जहाँ पे एक्टिंग का कोर्स कराया जाता है जहाँ से एक्टिंग का
कोर्स कर के फिल्म निर्माण के क्षेत्र में एक्टर के रूप में अपने करियर की शुरुआत कर सकते हैं |

एक्टर कैसे बने इस पोस्ट के माध्यम से और ज्यादा डिटेल में जानकरी प्राप्त कर सकते हैं |

एक्टर बनने के लिए मेहनत और धैर्य की सबसे ज्यादा आवश्यकता होती है | अगर
आपके पास धैर्य नहीं है तो एक्टिंग के क्षेत्र में आप सफल नहीं हो सकते हैं| इस
प्रोफेशन में कब आपको काम मिलना शुरू होगा इसकी कोई गारेंटी नहीं है |

किसी एक्टर को कम अनुभव के वाबजूद भी जल्दी काम मिल जाता है और किसी
को बहुत ज्यादा अनुभव होने के बाद भी जल्द काम नहीं मलता है और काफी लम्बा
संघर्ष करना परता है |

Bollywood में entry कैसे करे

बॉलीवुड दुनिया के सबसे बड़ी फिल्म इंडस्ट्री में से एक मानी जाती है | बॉलीवुड काफी सारे
फिल्म निर्माण कंपनियां हैं और एक साल में पूरी दुनिया से ज्यादा फिल्मों का निर्माण
बॉलीवुड के अंदर किया जाता है |

बॉलीवुड इंडस्ट्री ने पिछले सौ वर्षों में कई महान हस्तियों को जन्म दिया है | और लगातार
एक से बढ़ कर एक डायरेक्टर और एक्टर बॉलीवुड में अपने हुनर को दिखा रहें हैं और
अच्छी-अच्छी फ़िल्में देकर लोगो का मनोरंजन कर रहें हैं |

बॉलीवुड में जितनी ज्यादा फिल्मों का निर्माण होता है उतनी ही ज्यादा वहां पे संघर्ष भी है इसी
लिए बॉलीवुड में एंट्री करना थोड़ा मुश्किल है | अगर कोई एक्टर बनने के लिए मन में पूरी तरह से
ठान लिया तो फिर उसे जरूर सफलता मिलती है |

बॉलीवुड में कई ऐसे अच्छे अभिनेता हैं जिन्हे शुरुआत में काफी संघर्ष करना पड़ा था और कई
कारणों से उन्हें काम नहीं मिल रहा था लेकिन नहे अपने एक्टिंग के हुनर पर यकीन था और
काफी समय बाद उन्हें काम मिलने लगा | और जब काम मिलना शुरू हुआ तो लगातार एक के
बाद एक बेहतरीन फिल्मों में उन्होंने काम किया और वो एक साफा अभिनेता कहलाते हैं |

इसी लिए फिल्म निर्माण में अभिनेता ही नहीं अन्य किसी प्रोफेशन के लिए भी अनुभव के साथ
साथ धैर्य रखना जरूरी होता है तभी जाकर आप एक सफल अभिनेता बना सकते हैं |

एक्टिंग कैसे सीखे (How To Learn Acting)

एक्टिंग सिखने के लिए किसी एक्टिंग स्कूल से ट्रेनिंग ले कर एक्टर के रूप में अपने करियर
की शुरुआत कर सकते हैं | निचे कुछ फिल्म स्कूल के नाम हैं जहाँ से एक्टिंग के कोर्स
कर सकते हैं |

National School of Drama”(NSD) Delhi
Film and Television Institute of India (FTII) Pune
SATYAJIT RAY FILM & TELEVISION INSTITUTE (SRFTI) Kolkata
Whistling Woods International Mumbai

एक्टिंग प्रैक्टिस का चीज है उसे कोई प्रैक्टिस कर के ही सिख सकता है | सिर्फ कोर्स करने से
आप एक्टिंग नहीं सिख सकते हैं | लेकिन एक्टिंग के बारे में बेसिक सिखने के लिए फिल्म स्कूल
ठीक है |

फिल्म स्कूल जानने से कई फायदे हैं जो की खुद से एक्टिंग सिखने में नहीं मिल सकते हैं |
फिल्म स्कूल में फिल्म के लिए अलग-अलग डिपार्टमेंट का पढ़ाई होता है और वहां पे फिल्म से
जुड़े अन्य डिपार्टमेंट के लोगो से मिल सकते हैं और उनके बारे में जान सकते हैं |

फिल्म निर्माण के क्षेत्र में फिल्म से जुड़े लोगो से संपर्क बनाना और सम्पर्क में रहना काफी जरुरी
होता है | जब कोई एक्टर एक्टिंग सिख लेता है तो फिल्म स्कूल से जुड़े लोग काम दिलाने में मदद
कर सकते हैं |

मान लें, कोई फिल्म निर्देशक है और वो भी उसी फिल्म स्कूल से फिल्म निर्देशन का कोर्स कर रहा
है और कोर्स खतम होने के बाद अगर वो किसी फिल्म कंपनी में काम ढूँढ लेता है और आप भी उसी स्कूल
से एक्टिंग का कोर्स किये हैं तो वो आपको काम दिलाने में मदद कर सकता है |

एक्टिंग खुद से सिखने के टिप्स (Acting Tips In Hindi)

खुद से एक्टिंग सिखने के लिए कुछ टिप्स हैं जिसका इस्तेमाल कर के आप अपने एक्टिंग
स्किल को इम्प्रूव कर सकता है|

यूट्यूब से सीखें

अभी ऑनलाइन का जमाना है और ऐसे में यूट्यूब पे कई प्रोफेशनल एक्टर एक्टिंग के बारे में
जानकरी देते हैं | आप यूट्यूब के माध्यम से उन सारे प्रोफेशनल एक्टर के द्वारा
बनाये गए वीडियो टुटोरिअल को देख के एक्टिंग के बारे में ज्यादा जानकारी ले सकते हैं और
शुरुआत में एक्टिंग कैसे करते हैं इसके बारे में जान सकते हैं |

यूट्यूब के ऊपर आप खुद से प्रैक्टिस कर के और उस वीडियो को रिकॉर्ड कर के अपलोड
कर सकते हैं| यूट्यूब एक फ्री प्लेटफार्म हैं यहां पे आपको वीडियो शेयर करने के कोई चार्ज नहीं
देने होंगे | आपके वीडियो पे फीडबैक भी मिलेगा साथ ही पता चलेगा की आप
किस तरह का एक्टिंग करते हैं |

शार्ट-फिल्म में काम करें

फिल्म निर्माण के क्षेत्र में जो लोग आना चाहते हैं वो अपने करियर की शुरुआत शॉर्टफिल्म
से करते हैं | कई सारे लोग फिल्म स्कूल में ही शार्ट फिल्म बनाना शुरू करते हैं | अलग-अलग
डिपार्टमेंट से आर्टिस्ट को जोड़कर एक ग्रुप बनाते हैं और फिल्म मेकिंग सिखने के लिए
शार्ट फिल्म से शुरुआत करते हैं|

आप भी अगर फिल्म स्कूल में एक्टिंग का कोर्स करते हैं तो वहां पे फिल्म डायरेक्टर ,स्क्रिप्ट राइटर ,
कोरियोग्राफर, वीडियो एडिटर इन सभी लोगों को एक साथ जोड़ कर एक ग्रुप बना सकते हैं और आप
उसमे एक्टिंग कर सकते हैं |

शार्ट-फिल्म से सबसे बड़ा फायदा ये होगा की फिल्म प्रोडक्शन हाउस में किस तरह से कोई प्रोजेक्ट
किया जाता है इसके बारे में जानकरी मिलेगा और अगर शार्ट फिल्म आपका बन कर तैयार हो जाता
है तो उसे अपने पोर्टफोलियो के रूप में इस्तेमाल कर सकते हैं |

ज्यादा फिल्म देखें (Acting Tips In Hindi)

एक्टिंग स्किल को और ज्यादा बेहतर बनाने के लिए आप ज्यादा से ज्यादा फिल्म देख सकते
हैं | जितना ज्यादा फिल्म देखेंगे उतना ज्यादा फिल्मों के बारे में आपको आईडिया मिलेगा और
जितना ज्यादा केटेगरी के फिल्म देखेंगे उतने टाइप के एक्टिंग के बारे में जानकरी मिलेगा |

फिल्म देखने के बाद उस फिल्म के किसी सीन की नक़ल करने की कोशिश करें | एक्टिंग
के स्किल को और ज्यादा मजबूत करने के लिए और एक्टिंग प्रैक्टिस के लिए ये काफी
जरुरी है |


2 thoughts on “Acting Tips In Hindi | एक्टिंग क्या है एक्टिंग कैसे सीखे”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close Bitnami banner
Bitnami