Assistent Director

Assistant director का फिल्म में क्या काम है ?

Assistant director असिस्टेंट डायरेक्टर का मुख्य काम होता है Film Director
फिल्म डायरेक्टर के गाइड-लाइन्स को फॉलो करना।
कलाकारों और क्रू के सदस्यों के स्वास्थ्य और सुरक्षा का भी ध्यान रखना और दैनिक
कॉल-शीट तैयार करना और डायरेक्टर को अपडेट करना।

assistant director roles

हॉलीवुड जैसी अगर बरी फिल्म की बात करे तो वह पे एक डायरेक्टर के अंदर एक से
ज्यादा असिस्टेंट डायरेक्टर होता है वो कुछ इस तरह के नाम से बुलाये जाते हैं ।

  • First Assistant director
  • Second Assistant director
  • Second second Assistant director
  • Third Assistant director
  • Additional Assistant director

first assistant director का मुख्य रूप से बाकि सभी असिस्टेंट डायरेक्टर के साथ
सम्पर्क रखना होता है और मॉनिटरिंग करना होता है ।
first assistant director सीधा मुख्य निर्देशक को रिपोर्ट करता है। फिल्म सेट पे क्रू के सदस्य और
कलाकार के हेल्थ और सुरक्षा का ध्यान रखना भी फर्स्ट असिस्टेंट डायरेक्टर की जिम्मेबारी होती है ।
कौन से सीन कब शूट होगी उसका लिस्ट तैयार करना उस सीन में जो भी शूटिंग से रिलेटेड लोग हैं
उनको सूचित करना उनकी लिस्ट तैयार करना, सेट के डिज़ाइन को मॉनिटर करना ,ये सारी काम
फर्स्ट असिस्टेंट डायरेक्टर करते हैं ।

वही 2nd असिस्टेंट डायरेक्टर की बात करे तो वो फर्स्ट असिस्टेंट डायरेक्टर के निर्देश को
फॉलो करते हैं सीधी तरह से अगर बोला जाये तो जो जिम्मेबारी एक फिल्म निर्देशक अपने
असिस्टेंट डायरेक्टर को देता है वैसे ही असिस्टेंट डायरेक्टर कुछ काम वो अपने
असिस्टेंट (सेकंड असिस्टेंट डायरेक्टर ) को दे देते हैं |

इसी तरह से बाकी सारे असिस्टेंट डायरेक्टर भी एक दूसरे अंदर होते हैं और
शूटिंग में मदद करते हैं । अगर डायरेक्टर पुरे फिल्म को मॉनिटर करता है और
सभी डिपार्टमेंट में शामिल रहता है वही असिस्टेंट डायरेक्टर को अलग-अलग
डिपार्टमेंट सौंपा जाता है मॉनिटर करने के लिए और वो सभी अपने-अपने हेड को
अपने काम के प्रोग्रेस के बारे में रिपोर्ट करते हैं और सभी असिस्टेंट डायरेक्टर मुख्य
फिल्म निर्देशक को रिपोर्ट करते हैं।

Education And Training

असिस्टेंट डायरेक्टर के लिए कोई अलग से कोर्स नहीं होता है फिल्म स्कूल
में फिल्ममेकिंग के डिग्री कोर्स में फिल्म के सभी डिपार्टमेंट के बारे में ट्रेनिंग दी जाती है उसके
बाद लोग अपने इच्छा अनुसार जिस डिपार्टमेंट में जाना चाहते है उस डिपार्टमेंट में अस्सिटेंट के तौर पे
जॉइन करते हैं और जो डायरेक्टर बनना चाहते हैं वो असिस्टेंट डायरेक्टर के तौर पे फिल्म इंडस्ट्री को
जॉइन करते हैं ।
ये कुछ फिल्म स्कूल हैं –

“National School of Drama”(NSD) Delhi https://nsd.gov.in
 Film and Television Institute of India (FTII) Pune https://www.ftii.ac.in/
SATYAJIT RAY FILM & TELEVISION INSTITUTE (SRFTI) Kolkata http://srfti.ac.in/

JOB AND OPPORTUNITY

अस्सिटेंट डायरेक्टर के जॉब के लिए ज्यादा कोई अनुभव की जरूरत नहीं होती है लेकिन
फिल्म बनाने के बारे और फिल्म के सभी डिपार्टमेंट के बारे में एक बेसिक जानकारी होना
बहुत जरुरी है । अगर कोई बड़ी फिल्म प्रोडक्शन कंपनी की बात की जाये तो वो हो सकता है
वह एक्सप्रिएंस की मांग हो पर छोटे प्रोडक्शन हाउस में काम मिल
जाता है ।अगर कोई शार्ट फिल्म किया हुआ हो तो वो पोर्टफोलियो को और मजबूत
बनाता है और काम मिलने का चांस बढ़ जाता है ।
वेब और इंटरनेट आने से फिल्म और टेलीविजन की इंडस्ट्री जिस हिसाब से बढ़ रहा है
फिल्म इंडस्ट्री में काफी ऑपर्चुनिटी है

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Close Bitnami banner
Bitnami