Lighting artist

Lighting artist क्या करता है-What does a lighting artist do?

Lighting artist का फिल्म के सीन में लाइटिंग करना होता है | लाइटिंग आर्टिस्ट
दो प्रक्रार के होते हैं –

  • live-action Film Lighting Artist
  • CG Lighting Artist

फिल्म जब शूट होती है तो प्रोडक्शन डिपार्टमेंट में लाइटिंग आर्टिस्ट भी होता है जो फिल्म सेट
पे लाइटिंग करता है | लाइटिंग भी काफी टेक्निकल और क्रिएटिव काम है, लाइटिंग के मदद
से फिल्म में इमोशन क्रिएट किया जाता है |

CG Lighting Artist

CG Lighting Artist विजुअल इफ़ेक्ट सीन में लाइट करता है | किसी भी शॉट में VFX का इस्तेमाल
करने के लिए computer-generated Imagery(CGI) का इस्तेमाल किया जाता है और उसको
लाइव एक्शन सीन के साथ कम्पोजिटिंग कर दिया जाता है |

लाइव एक्शन सीन शूट के समाय फिल्म सेट पे जिस प्रकार से लाइटिंग किया जाता है ठीक उसी
प्रकार से मैच कर के CGI ग्राफ़िक्स में लाइटिंग किया जाता है | CG लाइटिंग कंप्यूटर सॉफ्टवेयर
के मदद से किया जाता है |

live-action Film लाइटिंग आर्टिस्टक्या करता है

लाइव एक्शन फिल्म शूटिंग के लिए सेट का डिज़ाइन किया जाता है और सेट पे अलग-अलग
प्रकार के लाइट का इस्तेमाल कर के लाइटिंग इफेक्ट्स क्रिएट किया जाता है |
फिल्म सेट पे जो लाइटिंग आर्टिस्ट होता है उसे डायरेक्टर ऑफ़ फोटोग्राफी के गाइड लाइन्स
के अंदर काम करना होता है

कहाँ पे कौन सा लाइट का इस्तेमाल करना है DOP (डायरेक्टर ऑफ़ फोटोग्राफी) ये निर्णय लेता है
और फिर उसी हिसाब से लाइटिंग आर्टिस्ट फिल्म के सीन में लाइटिंग करता है

CG Lighting Artist क्या करता है

CG Lighting आर्टिस्ट का काम CG lights के colour, placement और intensity
को लाइव एक्शन सीन के हिसाब से समायोजित करता है ताकि सीन रियल और
ओर्जिनल लगे और उसके साथ ही लाइव एक्शन शॉट के साथ मैच भी करे |

CG Lighting के लिए भौतिकी का नॉलेज होना काफी जरूरी है | जब किसी CG सीन में
किसी ऑब्जेक्ट के ऊपर लाइटिंग की जाती है तो लाइट का डायरेक्शन किधर होगा ,
लाइट की intensity कितनी होगी इन सब बातों का खाश ध्यान रखा जाता है |

3D ऑब्जेक्ट का रिफ्लेक्शन को ध्यान में रख कर लाइटिंग की जाती है ताकि लाइव
एक्शन शॉट को कम्पोज़िटिंग कारने के बाद आसानी से मैच कर जाये |

VFX स्टूडियो में लाइटिंग आर्टिस्ट का अच्छा डिमांड होता है लेकिन लाइटिंग आर्टिस्ट के पास अनुभव
भी होना जरूरी है |
एक लाइटिंग आर्टिस्ट को कलात्मक और टेक्निकल नॉलेज होना जरुरी है | उसके साथ ही उसे आर्ट और
डिज़ाइन की अच्छी समझ भी होनी चाहिए |

एक लाइटिंग आर्टिस्ट को colour space , design theory, Colour theory , perspective
इनसब चीजों के बारे में अच्छी नॉलेज होनी चाहिए |

Lighting Artist कैसे बने

लाइटिंग आर्टिस्ट बनने के लिए फिल्म और डिज़ाइन का कोर्स करना होता है | अगर आप
सिनेमेटोग्राफी का स्पेशल कोर्स करते हैं तो उसमे भी आपको लाइटिंग सिखाई जाती है |
पर ये लाइटिंग लाइव एक्शन के लिए होती है |

अगर आपको CG लाइटिंग सीखनी है तो आपको विसुअल इफेक्ट्स का कोर्स करना होगा |
विजुअल इफेक्ट्स में VFX सॉफ्टवेयर सिखाया जाता है जिसके मदद से CG लाइटिंग की जाती है |

Lighting artist बनने के लिए फिल्म और डिज़ाइन का कोर्स करना होता है | अगर आप
सिनेमेटोग्राफी का स्पेशल कोर्स करते हैं तो उसमे भी आपको लाइटिंग सिखाई जाती है |
पर ये लाइटिंग लाइव एक्शन के लिए होती है |

अगर आपको CG लाइटिंग सीखनी है तो आपको विजुअल इफेक्ट्स का कोर्स करना होगा |
विजुअल इफेक्ट्स में VFX सॉफ्टवेयर सिखाया जाता है जिसके मदद से लाइटिंग की जाती है |
अगर आपको दोनों प्रकार की लाइटिंग सीखनी है तो आपको फिल्म-निर्माण का बैचलर डिग्री
कोर्स करना सबसे बेहतर होगा जिसमे विजुअल इफेक्ट्स और सिनेमेटोग्राफी दोनों सिखाई जाती
है |

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close Bitnami banner
Bitnami