video-editing

Film Editing फिल्म एडिटिंग करना कैसे सीखें

फिल्म एडिटिंग क्या है

फिल्म शूट होने के बाद उसका एडिटिंग होता है एडिटिंग के प्रोसेस में फिल्म के जो
बेकार फुटेज होते हैं उन्हें कट किया जाता है फिर कहानी और संवाद के
हिसाब से सीक्वेंस को जोड़ा जाता है और जो इस इस जॉब को करते हैं
उन्हें वीडियो एडिटर/फिल्म एडिटर बोलते हैं |

Film Editing फिल्म एडिटिंग के
प्रोफेशनल सॉफ्टवेयर कौन कौन से हैं ? फिल्म इंडस्ट्री में
मुख्य रूप से कौन से सॉफ्टवेयर इस्तेमाल होते हैं?

Adobe Premiere Pro
 Final Cut Pro 
Avid Media Composer
DaVinci Resolve

ये सारे सॉफ्टवेयर फिल्म इंडस्ट्री के ज्यादातर स्टूडियो में इस्तेमाल होता है |
अभी माजूदा समय में जो अपडेटेड सॉफ्टवेयर है वो इस्तेमाल होता है |
ये सारे सॉफ्टवेयर हमेशा अपडेट होते रहता है और नए-नए फीचर जोड़े जाते हैं
इसी लिए अगर एक प्रोफेशनल वीडियो एडिटर के रूप में काम करना है
तो इनमे से कोई एक सॉफ्टवेयर में एक्सपर्ट होना जरूरी है

Film Editing वीडियो एडिटिंग कहाँ से सीखे ?

वीडियो एडिटिंग पूरी तरह से एक टेक्नीकल-आर्टिस्टिक काम है जो आप
बिना सीखे नहीं कर सकते वैसे तो कोई भी काम बिना सीखे नहीं कर सकते
कही न कही से सीखना ही परता है पर Film Editing एक
सॉफ्टवेयर के ऊपर निर्धारित काम है जो बिना प्रॉपर सॉफ्टवेयर ट्रेनिंग के आप नहीं कर सकते हैं |

वीडियो एडिटिंग में काफी प्रोफेसनल टर्म होते हैं जैसे वीडियो फॉर्मेट’ के बारे में
जानना प्रॉपर फाइल और फोल्डर मैनेजमेंट , दो अलग वीडियो
एडिटिंग एप्लीकेशन के बीच फाइल माइग्रेशन, वीडियो किस प्लेटफार्म के लिए बनाई गई है
उसके हिसाब से फॉर्मेट चयन कर के render करना मतलब
फाइनल आउटपुट निकालना ये सारी चीजों की बेसिक जानकरी होना जरुरी है जो
की बिना वीडियो एडिटिंग के कोर्स किये संभव नहीं है | इसके लिए काफी
सारी ऑनलाइन और ऑफलाइन प्लेटफार्म है जहाँ से
आप Film Editing का बेसिक या एडवांस कोर्स कर सकते हैं |

ऑनलाइन Film Editing कोर्स के लिए क्या-क्या उपकरण जरुरी होता है और इसकी मानदंड(Criteria)क्या है? क्या इसके लिए कोई डिग्री कोर्स होना जरुरी है ?

सबसे पहले उपकरण की बात करे तो वीडियो एडिटिंग सिखने से पहले आपके पास खुद का कंप्यूटर या लैपटॉप
होना बहुत जरूरी है तभी आपको इस कोर्स की पूर्ण रूप से फायदा मिल सकेगा क्यों की
जब आप क्लासेज करेंगे तो वो अक्सर सप्ताह में तीन दिन ही होता है और
वो भी 2घंटे की क्लास होती है जब तक आपके पास खुद के कंप्यूटर या लैपटॉप नहीं होंगे
तो आप प्रैक्टिस नहीं कर पाएंगे और वीडियो एडिटिंग के कोर्स से ज्यादा बेनिफिट्स
तभी मिलेगा जब आप रोजाना 7 से 8 घंटे प्रैक्टिस करेंगे | कोर्स 1 महीने की या
इससे ज्यादा की भी हो सकती है पर एक्सपर्ट बनने के लिए खुद से रेगुलर प्रैक्टिस करना बहुत जरूरी है |
काफी सारी चीजों की जानकारी हो सकता है आपको कोर्स में न मिल पाए पर वो प्रैक्टिस से खुद आने लगती है |

फिर बात आती है सॉफ्टवेयर की तो कुछ सॉफ्टवेयर फ्री हैं
कुछ स्टूडेंट-वर्शन में खरीदे जा सकते है
जो बिलकुल कम प्राइस पे उस सॉफ्टवेयर के वेबसाइट से ख़रीदे जा सकते है

अब बात करे मानदंड यानि (criteria) की तो जैसा की पहले ही बताया गया है
ये एक टेक्नीकल और आर्टिस्टिक काम है इसमें कोई प्रॉपर डिग्री होना
या ग्रेजुएट होना जरुरी नहीं है आपको कंप्यूटर की बेसिक समझ होना जरुरी है
एक बेसिक एजुकेशन भी जरुरी है ताकि जब आप काम करे तो कम्युनिकेशन में प्रॉब्लम न हो |
बाकि आप किस क्लास तक पढ़े है और आपके पास क्या डिग्री है कोई मायने नहीं रखता है

See Also :

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Close Bitnami banner
Bitnami