Online Film School

Online Film School क्या है ?और क्यों ज्यादा प्रचलन में है

Online Film School ट्रेडिशनल स्कूल के तरह ही होता है जिसमे फिल्ममेकिंग
के सभी डिपार्टमेंट के कोर्स ऑनलाइन प्रोवाइड की जाती है | इस स्कूल में स्टूडेंट
इंटरनेट के माध्यम से घर बैठ के उस कोर्स को पूरा कर सकते है और फिल्ममेकिंग
में अपने करियर की शुरआत कर सकते हैं | इस तरह के फिल्म स्कूल के कोर्स ऑनलाइन
होते हैं इसी लिए इसे Online Film School बोलते हैं |

जिस प्रकार से अन्य दूसरे फील्ड का डिजिटलीकरण हुआ है जैसे- प्रिंट मीडिया ही देख लें
अब वो एक डिजिटल मीडिया के रूप में उभर के आया है | लोग अखबार पढ़ने के जगह
ऑनलाइन न्यूज़ पढ़ना ज्यादा पसंद करते हैं वैसे फिल्मों में भी और स्कूलों में भी परिवर्तन
होते नजर आ रहा है | फिल्म कोर्स के अलावा अन्य सारे जो ट्रेडिशनल कोर्स हैं उनके लिए भी
अब ऑनलाइन बढ़ावा दिया जा रहा है |
फिल्ममेकिंग में भी कई सरे टेक्निकल चीजे होती हैं जो बिना कोर्स किये नहीं सीखा जा सकता है
इस लिए Online Film School ऐसे कोर्स ऑफर करती हैं जो स्टूडेंट घर बैठ के उन सारे
तकनीक को सिख कर फिल्ममेकिंग में करियर की शुरुआत कर सकते हैं |

Online Film School ट्रेडिशनल फिल्ममेकिंग स्कूल से क्यों बेहतर हैं 

ट्रेडिशनल फिल्म स्कूल में कोई भी कोर्स के लिए स्कूल जाना परता हैं| अब जैसे हमें फिल्म एडिटिंग
का कोर्स करना हैं तो हमें स्कूल जाना होगा वहां पे रहकर एडिटिंग सीखनी होगी | अब अगर फिल्म एडिटिंग
की बात करें तो ये प्रैक्टिकल कोर्स हैं इसमें किसी फिल्म एडिटिंग सॉफ्टवेयर को सिखने की जरूरत होती हैं
जो की घर से भी अपने कंप्यूटर से उस सॉफ्टवेयर को सीखा जा सकता हैं |
जो चीजे स्कूल में जा कर प्रैक्टिस करेंगे वो घर पे बैठ के अपने कंप्यूटर के माध्यम से सीखा जा सकता हैं और अगर थ्योरी की बात करें तो जो थ्योरी या लेक्चर स्कूल क्लास में सुनने को मिलता
वो हम वीडियो के माध्यम से घर बैठ के सुन सकते हैं | इससे ये फायदा होगा –

  • स्टूडेंट का स्कूल आने जाने का समय बच जयेगा |
    अगर स्कूल किसी दूसरे शहर में हैं तो उस कोर्स को करने के लिए रूम और खाने पे अलग से खर्च
    करना पड़ेगा जो काफी ज्यादा इन्वेस्टमेंट हो जाता हैं | वहीं Online Film School में ऑनलाइन
    कोर्स करते हैं तो रहने खाने के जो एक्स्ट्रा पैसे हैं वो बच जायगे |
  • Online Film School के फीस ट्रेडिशनल स्कूल के हिसाब से काफी काम होता हैं इसकी
    सबसे बड़ी वजह हैं Online Film School में रिसोर्सेस ज्यादा नहीं लगते हैं | ट्रेडिशनल
    स्कूल की तरह क्लास-रूम, मशीन , इत्यादि का खर्च में स्कूल की भी बचत हो जाती हैं |
  • ट्रेडिशन स्कूल में कोर्स में अगर कुछ डाउट होता हैं  तो वो सिर्फ क्लास रूम तक सिमित
    रहता हैं स्टूडेंट अगली क्लास में ही उस डाउट को क्लियर कर सकते हैं जबकि अधिकतर
    Online Film School डाउट क्लियर के लिए ऑनलाइन हेल्प डेस्क बना कर रखती हैं
    जहाँ पे स्टूडेंट किसी भी वक़्त अपने डाउट पूछ सकते हैं | ये सब Online Film School के फायदे हैं |

ऑनलाइन फिल्म स्कूल के लिमिटेशन 

फिल्म मेकिंग में कई सारे जॉब पोस्ट होते हैं जैसे डायरेक्टर, स्क्रिप्ट राइटर , एक्टर, फिल्म एडिटर
डबिंग आर्टिस्ट, डायरेक्टर ऑफ़ फोटोग्राफी , सिनेमेटोग्राफर इत्यादि |
इनमे से कुछ ऐसे कोर्स हैं जिनके लिए हमें बहुत ज्यादा सेल्फ प्रैक्टिस की जरूरत होती हैं और
कॉन्टेक्ट्स होना बहुत जरूरी होता हैं | अगर हम एक्टिंग की बात करें तो Online Film School में  ऑनलाइन कोर्स करने में सिर्फ हमें एक्टिंग की मुख्य मुख्य चीजे बताई जाती हैं क्यों की ऑनलाइन में तो एक्टिंग की प्रैक्टिस करवाना किसी फिल्म स्कूल के लिए संभव नहीं हैं |

एक्टिंग की ऑनलाइन कोर्स का स्टूडेंट को तभी फायदा मिल सकता हैं जब वो सेल्फ प्रैक्टिस करेगा |
इसके लिए नजदीकी थिएटर ग्रुप से जुड़ कर के और प्रक्टिस कर सकते हैं |ऑनलाइन हो या ऑफलाइन कही भी सिर्फ टिप्स एंड ट्रिक्स ही बताया जा सकता हैं करना खुद स्टूडेंट को ही होता हैं
ऐसा नहीं हैं की एक्टिंग ऑनलाइन नहीं सीखी जा सकती हैं पर इसके लिए सेल्फ कॉन्फिडेंस और सेल्फ मोटीवेट होना जरुरी हैं और रेगुलर प्रैक्टिस करना सबसे ज्यादा इम्पोर्टेन्ट हैं |बाकि अगर कैमरा के तकनीक के बारे में सीखना हो या फिर एडिटिंग सॉफ्टवेयर के बारे में इन सब के लिए Online Film School ज्यादा अच्छा हैं |

Online Film School List 

ये कुछ फिल्म स्कूल हैं जिनमे अलग अलग तरह के ऑनलाइन शार्ट-टर्म कोर्स उपलब्ध हैं जो
फिल्ममेकिंग से रिलेटेड हैं |

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!