vfx meaning

vfx meaning – विजुअल इफेक्ट्स मतलब क्या होता है और ये कहाँ इस्तेमाल होता है

vfx meaning- vfx का मतलब होता है फिल्म में Illusion क्रिएट करना |

विजुअल इफेक्ट्स के मदद से फिल्म-निर्माता काल्पनिक सीन जो की वास्तिवक दुनिया में संभव
नहीं है उसको बनाते हैं और ऐसे स्टंट जो रियली में शूट करना बिलकुल असम्भव है वैसे स्टंट को
भी vfx के मदद से बनाते हैं |

vfx में live-action footage के साथ computer-generated imagery (CGI) को कम्पोज़िटिंग
कर के सीन तैयार किया जाता है |
इसको आसान भाषा में समझें तो जब फिल्म शूट होती है और जिस भी सीन में विजुअल इफेक्ट्स का
इस्तेमाल करना होता है उस सीन को सबसे पहले ग्रीन-पर्दा को बैकग्राउंड में रख के शूट कर लिया जाता है |
फिर vfx सॉफ्टवेयर के मदद से CGI बैकग्राउंड तैयार किया जाता है हुए सॉफ्टवेयर के मदद से ही ग्रीन
पर्दा को हटा दिया जाता है जिसे Chroma Keying बोलते हैं |

फिर करैक्टर को और CGI बैकग्राउंड को कम्पोज़िटिंग सॉफ्टवेयर के मदद से कम्पोजिट कर दिया जाता है |

विजुअल इफेक्ट्स कितने प्रकर की होती है-(vfx meaning)

विजुअल इफेक्ट्स मुख्य रूप से दो तरह की होती है | फिल्मों में दो तरह से विजुअल इफेक्ट्स
तैयार किये जाते हैं | एक तो CGI VFX होता है जिसमे कंप्यूटर जनरेटेड ग्राफ़िक्स का इस्तेमाल
कर के बनाया जाता है|

दूसरा है स्पेशल इफेक्ट्स जो रियल में फिल्म सेट पे तैयार किया जाता है और उस इफेक्ट्स को कैमरा
के मदद से शूट किया जाता है |
जैसे- pyrotechnics, fake rain, animatronics, और prosthetic makeup.

दोनों प्रकार के विजुअल इफेक्ट्स को फिल्म-निर्माण के सबसे अंतिम चरण पोस्ट-प्रोडक्शन में
कम्पोजिट किया जाता है |

CGI VFX (vfx meaning)

CGI VFX के बारे में थोड़ा डिटेल्स से जानते हैं की ये किस तरह से तैयार किया जाता है |
फिल्म में स्क्रिप्ट राइटिंग के बाद उसकी स्टोरीबोर्डिंग की जाती है अगर आपको स्टोरीबोर्डिंग के
बारे नहीं पता है तो स्टोरीबोर्डिंग क्या है इस पोस्ट को पढ़ सकते हैं |

स्टोरीबोर्डिंग में प्रत्येक सीन का रेफ़्रेन्स तैयार किया जाता है इसको pre-visualising भी कहते हैं |
इसमें प्रत्येक सेन का इमेज ड्रा किया जाता है | इसमें ज्यादा डिटेलिंग नहीं होती है |
उसके बाद वो रेफ़्रेन्स VFX डिपार्टमेंट को भेज दिया जाता है और VFX डिपार्टमेंट में मौजूद
VFX ARTIST उस सीन पे काम करना शुरू कर देते हैं |

CGI VFX डिपार्टमेंट में कौन होता है– (vfx meaning)

  • MODELING ARTIST
  • TEXTURING ARTIST
  • LIGHTING ARTIST
  • ANIMATOR
  • FX ARTIST
  • RENDER ARTIST
  • COMPOSITING ARTIST
MODELING ARTIST

मॉडलिंग आर्टिस्ट का काम होता है 3D मॉडल करना | फिल्म में जो भी करैक्टर या बैकग्राउंड
CGI होता है उसको 3D मॉडलिंग आर्टिस्ट सबसे पहले मॉडल करता है |
3D मॉडलिंग सॉफ्टवेयर के मदद से कोई भी करैक्टर या बैकग्राउंड मॉडल किया जा सकता है |
जैसे- बिल्डिंग, सिटी, कार , नदी ,पहाड़, झरना, किसी भी प्रकार का बैकग्राउंड बनाया जा सकता है |

Visual effects

अगर करैक्टर मॉडलिंग की बात करें तो 3D सॉफ्टवेयर के मदद से किसी भी ह्यूमन का फेस या बॉडी
बनाया जा सकता है | अगर किसी फिल्म में आप कोई Animal देखते हैं तो उनमे से ज्यादतर 3D मॉडल ही
होता है |

बॉलीवुड की सबसे ज्यादा फेमस फिल्म बाहुबली में जो BULL FIGHTING का सीन है
उसमे बैल 3D मॉडल किया हुआ है वो रियल बैल नहीं है |

इसी तरह हॉलीवुड में जितनी भी फिल्मे बनती है और उसमे जो अजीब सा करैक्टर दिखाया जाता
है वो सभी CGI के मदद से तैयार किया जाता है और उसको 3D मॉडलिंग आर्टिस्ट मॉडल करता है |

TEXTURING ARTIST– (vfx meaning)

3D मॉडलिंग करने के बाद उस मॉडल को टेक्सचरिंग करना होता है | अगर कसी ऑब्जेक्ट का
3D मॉडल हुआ है तो वो ऑब्जेक्ट रियल में जिस मटेरियल का होता है सॉफ्टवेयर में उसी मटेरियल
का इस्तेमाल उस ऑब्जेक्ट को रीयलिस्टिक करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है |

जैसे कोई बिल्डिंग का 3D मॉडल हुआ तो उसमे मॉडल के समय कोई कलर नहीं होता है
उसको कलर करने के लिए टेक्सचरिंग करना परता है और जो इस काम को करते हैं
उसे टेक्सचरिंग आर्टिस्ट कहते हैं |

LIGHTING ARTIST

लाइटिंग आर्टिस्ट का काम लाइटिंग करना होता है | अगर कोई घर का 3D मॉडल है तो उसमे
टेक्सचरिंग के बाद लाइटिंग करनी होती है |

ANIMATOR

अगर कसी करैक्टर का एनीमेशन करना हो या फिर किसी ऑब्जेक्ट का एनीमेशन करना हो तो
उसके लिए VFX डिपार्टमेंट में एनिमेटर होता है |

ये भी देखें:
एनीमेशन क्या है

FX ARTIST

फिल्म में जो ब्लास्ट, आग लगना, वर्षा होना ये सभी इफेक्ट्स देखते हैं वो FX आर्टिस्ट ही करता है |
एक करैक्टर का दूसरे करैक्टर में ट्रांसफॉर्मेशन होना ये सभी FX आर्टिस्ट करते हैं |

RENDER ARTIST

Render artist का काम सबसे लास्ट में होता है वो इस 3D मॉडल को render कर के इमेज सीक्वेंस या
वीडियो में रेंडर करता है और इस प्रक्रिया को रेंडरिंग कहते हैं |

COMPOSITING ARTIST

कम्पोज़िटिंग आर्टिस्ट का काम होता सीन के सभी element को एक साथ कम्पोजिट करना |
जैसे- अगर किसी सीन में लाइव एक्शन शॉट के साथ CGI बैकग्राउंड को कम्पोज़िटिंग करना है
तो तो वो काम कम्पोज़िटिंग आर्टिस्ट करता है |

DOP ग्रीन स्क्रीन पे करैक्टर का फुटेज शूट कर के देता है और 3D मॉडलिंग डिपार्टमेंट से बैकग्राउंड
मॉडल और रेंडर हो कर आता है तो उसको कम्पोज़िटिंग आर्टिस्ट एक साथ कम्पोज़िटिंग करता है |

इस तरह CGI VFX के मदद से फिल्म के सीन को तैयार किया जाता है |

SPECIAL EFFECTS

स्पेशल इफेक्ट्स में रियल में सेट तैयार किया जाता है | अगर कोई स्पेशल इफेक्ट्स के मदद से
बिल्डिंग बनाना है तो अलग-अलग मटेरियल का इस्तेमाल कर के मिनिएचर बिल्डिंग
बनाया जाता है और उसको कैमरा के मदद से शूट कर लिया जाता है |
फिर कम्पोज़िटिंग के मदद से उसे सीन में लाइव एक्शन फुटेज के साथ कम्पोजिट कर दिया जाता है |

स्पेशल इफेक्ट्स के मदद से नकली रक्त, नकली मानव कटा हुआ सर ,ज़ोंबी फेस, और भी कई तरह के
इफेक्ट्स रियल में तैयार किया जाता है और उसे कैमरे के मदद से शूट किया जाता है और उसको फिल्म
में इस्तेमाल किया जाता है |

ये भी देखें :
स्पेशल इफेक्ट्स क्या है

VFX SOFTWARE: – (vfx meaning)

ये सभी सॉफ्टवेयर वजुअल इफेक्ट्स क्रिएट करने के लिए इस्तेमाल होता है |

  • Adobe After Effects
  • Houdini
  • 3Ds Max
  • Nuke
  • Autodesk Maya
  • Maxon Cinema 4D
  • Syntheyes
  • Boujou
  • Mocha

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close Bitnami banner
Bitnami