Film Company

अपनी खुद की फिल्म कंपनी कैसे शुरू करें | how to Start a Film Company

Start a Film Company | अपनी खुद की फिल्म कंपनी कैसे शुरू करें

फिल्म-निर्माण एक कला है और फिल्म निर्माण के कुछ तकनीक है जिसको प्रयोग कर के
फ़िल्मकार अपने कहानी को एक मोशन-पिक्चर के रूप में दुनिया के सामने प्रेजेंट करते हैं|
वैसे तो लोग फिल्म-निर्माण की दुनिया में अपने शौक और कला के बदौलत ही आते हैं लेकिन
अभी फिल्म-निर्माण मुख्य रूप से एक प्रोफेशनल व्यवसाय बन चूका है और इसमें करियर की
आपार संभावनाएं हैं |

फिल्म निर्माण की शुरुआत आप भले ही एक छोटे स्तर पे करें लेकिन समय के साथ खुद को
अपग्रेड करना आवश्यक होता है | जिस तरह से तकनीक में परिवर्तन हो रहा है फिल्म-निर्माण
के तरिके भी उसी हिसाब से बदल रहे हैं | अगर आप फिल्म निर्माण में अपना भविष्य तलाश
रहे हैं, तो निश्चित रूप से आपको प्रोफेशनल तरीके ही चुनना चाहिए जैसा की बाकि प्रोफेशनल
फ़िल्मकार कर चुके हैं |

प्रोफेशनल तरीके से फिल्म निर्माण शुरू करने के लिए आपको बाकि व्यवसाय के तरह फिल्म
के व्यवसाय को एक कंपनी का रुप देना होता है| कोई भी व्यक्ति अकेले फिल्म का निर्माण नहीं
कर सकता है उसके लिए उसे एक टीम की जरूरत होती है, और किसी भी टीम के साथ काम
करने के लिए और उसको मैनेज करने के लिए कंपनी की आवश्यकता होती है |

एकFilm Company कैसे शुरू करें, इसके लिए क्या करना चाहिए और किन-किन चीजों की
आवश्यकता है इन सब चीजों के बारे में इस पोस्ट के अंदर डिटेल्स से बात करेंगे |

क्यों हमें खुद की फिल्म कंपनी शुरू करना चाहिए
why should we start own film company

Table of Contents

film company
film company

फिल्म इंडस्ट्री में खुद की फिल्म कंपनी खोलने के बाद आप अपने मन के मुताबिक फिल्म का निर्माण
का कर सकते हैं | अगर आप दूसरे फिल्म प्रोडक्शन कंपनी के अंदर काम करते हैं तो उस प्रोडक्शन
कंपनी के हिसाब से चलना परता है |

उदाहरण के लिए –
मान लें, आप एक फ़िल्मकार हैं और आपको कॉमेडी फिल्म बनाना पसंद हैं लेकिन जब आप
दूसरे फिल्म-निर्माण कंपनी के अंदर काम करते हैं तो तो आपक उनके प्रोजेक्ट डिमांड के हिसाब
से काम करना होता है उस कंपनी के अंदर एक्शन फिल्म बनती है तो आपको उसी फिल्म में काम
करना होता है |

वहीं अगर आपकी खुद की फिल्म कंपनी है, तो आप अपने पसंद के फिल्म का निर्माण कर सकते हैं |
कोई भी व्यक्ति अगर अपना खुद की फिल्म-निर्माण कंपनी शुरू करना चाहता है और एक फिल्म निर्माता
के रूप में अपना करियर बनाना चाहता है तो वो अपना फिल्म कंपनी शुरू कर सकता है |

Film Company शुरू करने की प्रक्रिया थोड़ा सा जटिल है इसमें कुछ क़ानूनी प्रक्रिया से गुजरना
परता है लेकिन आप अपने धैर्य और परिश्रम के बदौलत आसानी से एक Film Company की
शुरुआत कर सकते हैं और एक सफल फिल्म निर्माता बन सकते हैं|

फिल्म कंपनी शुरू करने के लिए व्यवसाय की योजना बनाएं
Plan your Business to start a film company

एक फिल्म निर्माता के रूप में अपने करियर की शुरुआत करने के लिए एक सही और स्पष्ट योजना
आवश्यक है। आपके कंपनी के अंदर किस तरह की फिल्म बनेगी और उसका मार्केट डिमांड कैसा
है? आपके Film Company के अंदर जो फिल्म बनेगी वो किस प्रकार के दर्शक के लिए बनेगी ? क्या ये
शहरी क्षेत्र के दर्शक के लिए फिल्म बनेगी या फिर देहात के दर्शक के लिए ये सभी लक्ष्य पहले से
निर्धारित और स्पष्ट होना जरुरी है | तभी आपकी Film Company सफल व्यवसाय का रूप ले सकती है
और आप एक सफल फिल्म-निर्माता बन सकते हैं |

एक अच्छी, ठोस व्यवसाय योजना से अधिक सफलता की गारंटी कुछ नहीं देता है। सबसे पहले ये तय करें
कि आप जो फिल्म बनाने जा रहें उसका लागत कितना होगा उसके हिसाब से Film Company का एक बजट
तैयार करना ये सभी योजना फिल्म निर्माण कंपनी के शुरआत में ही कर लेना चाहिए |

फिल्म कंपनी शुरू करने के लिए पैसे जुटाएं |
Raise money to start a film company

अपने फिल्म कंपनी को शुरू करने के लिए सबसे पहले पैसे जुटाना अति आवश्यक है| बिना पैसे
के आप फिल्म कंपनी शुरू नहीं कर सकते हैं | अगर आप खुद से पैसे लगाकर कर कंपनी खोलने
में असमर्थ हैं तो कुछ तरीके हैं जिससे पैसे का इंतजाम किया जा सकता है |

कई ऐसे लोग हैं जो फिल्म-निर्माण के व्यवसाय में रूचि रखते हैं लेकिन उन्हें फिल्म निर्माण की प्रक्रिया
के बारे में ज्यादा पता नहीं होता है | ऐसे लोग फिल्म-निर्माण कंपनी में अपना पैसा लगाने के लिए तैयार
रहते हैं |
ऐसे लोगों को ढूंढ कर अपने कंपनी में पार्टनरशिप कर सकते हैं | लेकिन आपको फिल्म में लगाए गए
पैसे के नुकसान और फायदा के बारे में एक कॉन्ट्रैक्ट बना लेना जरूरी है | फिल्म का व्यवसाय में कोई
गारेंटी नहीं है की आपको फायदा ही होगा, कभी-कभी नुकसान का भी सामना करना पर सकता है | ऐसे
में अनुबंध नहीं होने पर आप मुसीबत में पर सकते हैं और आपकी कंपनी को ज्यादा नुकसान का सामना
करना पर सकता है |

अपनी फिल्म कंपनी शुरू करने के लिए एक कानूनी इकाई बनाएँ
Form a legal entity for starting your film company

फिल्ममेकिंग कंपनी को भी बाकि अन्य व्यवसाय कंपनी के तरह रजिस्ट्रेशन करवाना होता है
आप अपने राज्य ये केंद्र सरकार के द्वारा दिए गए नियमों का पालन करते हुए जरुरी डाक्यूमेंट्स
तैयार करके अपने कंपनी का रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं |

फिल्म-निर्माण कंपनी की रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया शुरू करने के लिए सबसे पहले अपने कंपनी का
नाम चुनना जरुरी होता है| उसके बाद आपके कंपनी कहाँ पे स्थापित होगी उस जगह का डोक्युमेंट
जिस जमीनपे आप अपना कंपनी बना रहे हैं या फिर जिस जमीन पे आपके कंपनी का रेजिस्टर्ड ऑफिस
होगा उस जमीन के कागज तैयार होना जरुरी है |

जिस व्यक्ति के नाम से आप अपना फिल्म कंपनी रजिस्टर करेंगे उसके पर्सनल डाक्यूमेंट्स जैसे- पहचान
पत्र, आय प्रमाण पत्र ,पैन कार्ड , बैंक अकाउंट नंबर इत्यादि तैयार होना जरूरी है तभी आप अपने कंपनी के
रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया को आगे बढ़ा सकते हैं |

कंपनी के टैक्स के लिए भी रजिस्ट्रेशन की आवश्यकता होती है | अगरआप पहली बार किसी कंपनी को शुरू
कर रहे हैं तो आपको काफी परेशानी हो सकती है इसके लिए आप रजिस्ट्रेशन एजेंट का मदद ले सकते हैं
रजिस्ट्रेशन एजेंट कुछ फीस ले कर आपकी मदद कर सकते हैं |

अपनी ऑनलाइन उपस्थिति स्थापित करें
Establish online Presence of your Fim Company

आज के डिजिटल वर्ल्ड में अगर कोई भी बिज़नेस का इनफार्मेशन ऑनलाइन मौजूद नहीं है तो इसका
मतलब वो बिज़नेस इस दुनिया में मौजूद नहीं है | फिल्म-निर्माण तो आज के तारीख में मुख्य रूप से
ऑनलाइन बिज़नेस बन गया है|

डिजिटल फिल्ममेकिंग के आ जाने से फिल्म-निर्माण की प्रक्रिया में भी काफी बदलाव आया है | कोई हलीवूड
की फिल्म अमेरिका में बन रही होती है और इंडिया में बैठे Visual Effects (VFX ) आर्टिस्ट उस फिल्म के सीन के ऊपर
काम कर रहे होते हैं |

इंडियन VFX आर्टिस्ट को हॉलीवुड के फिल्म में टेक्निकल काम करने के लिए इंडिया से बहार जाने की
जरुरत नहीं होती है तो इसी से अंदाजा लगा सकते हैं की फिल्म इंडस्ट्री कितना आधुनिक और डिजिटल
हो चुकी है |

अगर आप अपनी फिल्म कंपनी शुरू करते हैं तो आपके कंपनी के ऑफिसियल वेबसाइट, सोशल मीडिया अकाउंट
ये सभी होना जरुरी है ताकि दुनिया में कहीं से लोग आपके कंपनी के ऑफिस पे आये बिना डायरेक्ट ऑनलाइन
संपर्क कर सकते हैं| किसी भी कंपनी या बिज़नेस के लिए ऑनलाइन उपस्थिति होना एकदम अनिवार्य है |

अपनी फिल्म कंपनी के लिए मूल कर्मचारी स्थापित करें |
Establish the basic staff for your Film Company

फिल्म प्रोडक्शन कंपनी के शुरआत में आपको बेसिक स्टाफ की सबसे पहले जरूरी है | सबसे पहले आपको
कम से कम एक head of development, एक head of production, एक head of post-production,
और एक head of sales को अपने कंपनी में जगह देना जरुरी होता है |

Head of development

इसका मुख्य काम फिल्म निर्माण के प्रारंभिक स्टेज में होता है जिसे प्री-प्रोडक्शन बोलते हैं| इसमें सबसे पहले
स्क्रिप्ट ढूढ़ना होता है | आपके फिल्म निर्माण कंपनी किस तरह के फिल्म बनाने में रूचि रखती है उसके हिसाब
से स्क्रिप्ट ढूढ़ना सबसे पहली प्रक्रिया है | और इसक देख-रेख करना Head of development के जिम्मा होता है |

Head of production

हेड ऑफ़ प्रोडक्शन का काम होता है फिल्म को एक निर्धारित बजट के अंदर पूरा करना | इस पोस्ट पे वैसे व्यक्ति
को रखा जाता है जिसे फिल्म निर्माण के अलावा बिज़नेस और फाइनेंस से जुड़े सभी जानकरी हो| फिल्म प्रोडक्शन
कंपनी के अंदर बजट और
तय समय सिमा पे फिल्म के प्रोडक्शन को पूरा करवाना हेड ऑफ़ प्रोडक्शन का काम होता है |

Head of post-production

पोस्ट-प्रोडक्शन के अंदर फिल्म की एडिटिंग की जाती है| हेड ऑफ़ पोस्ट-प्रोडक्शन के पोस्ट पे वैसे
व्यक्ति को रखें जिसे फिल्म एडिटिंग के बारे में गहरी नॉलेज है | अगर आपके प्रोजेक्ट को एक तय सिमा
पे पूरी तरह से तैयार करना है तो आपके पोस्ट प्रोडक्शन भी तय समय पे होना चाहिए |

Head of film sales and distribution

ये सबसे लास्ट की प्रक्रिया है | जब आपकी कंपनी फिल्म बना ली तो उसको बेचेंगे कैसे इसके लिए
Head of film sales and distribution को रखा जाता है ताकि वो आपके फिल्म को सही जगह बेच कर के
प्रॉफिट कमा के दे सके | Head of film sales and distribution के पोस्ट पे किसी व्यक्ति को रखने से पहले
ये पता कर लें की वो व्यक्ति marketing और advertising बैकग्राउंड है की नहीं |

प्रमाणित सार्वजनिक लेखाकार (सीपीए) को रखें
Hire a Certified Public Accountant (CPA)

आप किसी भी प्रकार का व्यवसाय चला रहे हैं, तो आपको एक एकाउंटेंट की आवश्यकता होती है।
फिल्म निर्माण कंपनी के लिए आपको एक प्रमाणित सार्वजनिक एकाउंटेंट (CPA) को रखना जरुरी
होता है | आपको अपने वित्त का प्रबंधन करने और टैक्स को नेविगेट करने में मदद कर सकता है।

अगर आपके टीम के किसी व्यक्ति को वित्तपोषण में अनुभव नहीं है, तो ऐसे काम खुद से लेखांकन
करने का प्रयास न करें। व्यापार लेखांकन मुश्किल होता है और आप गलती से कुछ भी गलत दर्ज
नहीं कर सकते हैं |

Hire the necessary staff for your Film Company

Film Company
Film Company

एक बार कंपनी रजिस्टर्डहो गई तो अब आप फिल्म-निर्माण की प्रक्रिया शुरू कर सकते हैं |जब आप
फिल्में बनाना शुरू करेंगे, तो आपको हरेक काम के लिए स्टाफ की आवश्यकता होगी। कितना स्टाफ
की जरुरत होगी ये इस बात पर निर्भर करता है कि आप किस तरह की फिल्में बना रहे हैं।
independent फिल्म बनाने के लिए कम से कम 10 लोगों की जरूरत होती है जिसके मदद से आप
फिल्म निर्माण कर सकते हैं।

यहां कुछ सामान्य क्षेत्र दिए गए हैं जहां आपको एक फिल्म के लिए स्टाफ को रखने की आवश्यकता हो सकती है:

  • writer
  • Director
  • cinematographer
  • technical crew
  • Actors and actresses
  • make-up
  • costume Designer
  • film editors
  • script supervision
  • Distributor

writer

फिल्म राइटर कहनी लिखता है और फिर उसे एक प्रॉपर स्क्रीनप्ले में बदलता है | बिना कहानी के किसी
भी तरह की फिल्म बनाना संभव नहीं है | ऐसा नहीं है की कोई भी व्यक्ति फिल्म स्क्रिप्ट लिख सकता है |
फिल्म राइटिंग के लिए आपको प्रॉपर फिल्म राइटिंग का नॉलेज होना जरुरी है |
फिल्म के कहानी को स्क्रीनप्ले में बदलना एक टेक्निकल काम है | हमेसा अच्छे फिल्म राइटर को अपने
कंपनी में रखना चाहिए | जब तक कहानी अच्छी नहीं होगी तो फिर फिल्म भी अच्छी नहीं बन पायेगी |

script supervision

script supervision का काम स्क्रिप्ट को प्रोडक्शन के बजट के हिसाब से डिज़ाइन करना होता है |
अगर किसी स्क्रिप्ट में शूटिंग का लोकेशन ज्यादा खर्च वाला है तो उसके जगह वैसे लोकेशन का
चयन किया जाता है जहाँ पे कम खर्च में शूटिंग हो सके |

Director

फिल्म डायरेक्टर का काम फिल्म को निर्देशित करना होता है | जब स्क्रिप्ट राइटर फिल्म के कहानी को
लिख के देता है तो फिर उसे फिल्म निर्देशक को दिखाया जाता है ताकि वो फिल्म के कहानी को कल्पना
कर सके |

फिल्म-निर्देशक का काम फिल्म-निर्माण के हरेक चरण में होता है | फिल्म निर्माण में कास्टिंग ,शूटिंग
एडिटिंग सभी पक्रिया में फिल्म-निर्देशक के कल्पन के हिसाब से चलना होता है |
किसी भी फिल्म डायरेक्टर को अपने कंपनी में रखने से पहले उस निर्देशक के पिछले काम के पोर्टफोलियो
जरूर चेक कर लेना चाहिए | फिल्म-निर्देशक फिल्म निर्माण में मुख्य इंजन के रूप में होता है, अगर
फिल्म-निर्देशक अच्छा नहीं है तो आपका फिल्म अच्छा नहीं बन पायेगा |

cinematographer

cinematographer
Cinematographer

सिनेमेटोग्राफर फिल्म की शूटिंग करता है | फिल्म निर्देशक के vision को कमरे के मदद से
कैप्चर करना सिनेमेटोग्राफर काम होता है |
सिनेमेटोग्राफर ये निर्णय लेता है की कौन से सीन को शूट करने क लिए क्या कैमरा लेन्सेस का
इस्तेमाल होगा | फिल्म शूटिंग से जुड़े सभी चीजों के बारे में जानकारी एक सिनेमेटोग्राफर को
होना जरुरी है |

Technical crew

फिल्म निर्माण की प्रक्रिया में जो भी टेक्निकल काम करना होता है उस के लिए Technical crew को
रखा जाता है | जैसे फिल्म सेट को तैयार करना या फिर सेट पे लाइटिंग करना ये सभी काम बिना
Technical crew के संभव नहीं है |

Actors and actresses

फिल्म बनाने के लिए अभिनेता या अभिनेत्री की आवश्यकता होती है | बिना एक्टर्स के
फिल्म बनना संभव नहीं है | फिल्म के कहानी के अलग-अलग किरदार होते हैं उन किरदार
के लिए जो अभिनय करता है उसको एक्टर बोलते हैं |

Make-up Artist

Make-up आर्टिस्ट का काम फिल्म में एक्टर और एक्ट्रेस सको मेकअप करना होता है |
एक साधारण मेकअप होता है ताकि एक्टर स्क्रीन पे अच्छा दिख सके और एक प्रोस्थेटिक
मेकअप
होता है | जैस ेफिल्म को स्पेशल इफेक्ट्स इस्तेमाल करना हो, एक्टर के चेहरे पे
कटे का निशान दिखाना हो तो वहां पे प्रोस्थेटिक मेकअप की आवश्यकता होती है |
दोनों तरह के मेकअप के लिए मेकअप आर्टिस्ट को फिल्म निर्माण कंपनी रखती है |

Costume Designer

Costume Designer का काम फिल्म में एक्टर और एक्ट्रेस के कपड़े का चयन करना होता है |
फिल्म में अलग-अलग किरदार के लिए अलग-अलग एक्टर को चुना जाता है और उन एक्टर के
ड्रेस कैसा होगा ये Costume Designer निर्णय लेता है |

Film editors

फिल्म एडिटर का काम पोस्ट-प्रोडक्शन में होता है | फिल्म एडिटर फिल्म की एडिटिंग करता है |
जब फिल्म शूट होता है तो वो सीन के हिसाब से एक छोटे-छोटे क्लिप में होता है | फिल्म एडिटर
का काम उन सभी छोटे-छोटे क्लिप को एक सीक्वेंस में जोड़ना होता है और फिर उसमे बैकग्राउंड
म्यूजिक और डायलॉग को जोड़ना होता है |

Distributor

डिस्ट्रीब्यूटर का काम फिल्म तैयार होने के बाद उसको दर्शक तक पहुंचना होता है |
चाहे थिएटर के माध्यम से या फिर ऑनलाइन प्लेटफार्म के माध्यम से फिल्म कैसे
दर्शक तक पहुंचेगा ये काम डिस्ट्रीब्यूटर के जिम्मे होता है |

इस तरह से एक टीम बनाकर फिल्म निर्माण शुरू कर सकते हैं |

नई फिल्म कंपनी के लिए बुनियादी उपकरण
Basic Equipment for Film company

Video Editing Equipment

फिल्म निर्माण के लिए कुछ जरुरी उपकरण होना आवश्यक है बिना उपकरण के फिल्म
शूट करना और फिर उसको एडिट करना बिलकुल संभव नहीं है |
निचे कुछ उपकरण की सूचि दी गई है जो फिल्म प्रोडक्शन कंपनी के अंदर होना आवश्यक है |

Camera
Lenses
Lighting equipment
Microphones
Tripod System
Computer
Video Editing software

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close Bitnami banner
Bitnami